input devices of computer

Contents hide
1 types of input devices

types of input devices 

नमस्कार दोस्तों आज की ब्लॉग में हम input devices of computer(इनपुट डिवाइस ऑफ कंप्यूटर) के बारे में जानेंगे ,सामान्यतया सभी लोग कंप्यूटर यूज करते हैं लेकिन उन्हें कंप्यूटर की इन सामान्य  जानकारी पता नहीं होती हैinput devices of computer( इनपुट डिवाइस ऑफ कंप्यूटर) से विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रश्न पूछे जाते हैं input devices of computer(इनपुट डिवाइस ऑफ कंप्यूटर) के आर्टिकल में सभी प्रकार की input devices के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया है आर्टिकल को पूरा पढ़ें और यदि आपको अच्छा लगे तो दोस्तों के साथ शेयर करें

input devices of computer


input devices of computer :

मनुष्य द्वारा दिए गए डाटा तथा निर्देशों को कंप्यूटर में प्रविष्ट कराने के लिए जिन  युक्तियों का प्रयोग किया जाता है उन्हें  input devices of computer ( इनपुट डिवाइसेज )कहते हैं कंप्यूटर सिस्टम में इनपुट यूनिट के निम्नलिखित कार्य होते हैं- 

  • यूजर द्वारा दिए गए डाटा को कंप्यूटर सिस्टम को प्रोसेसिंग  के लिए उपलब्ध कराना 
  • यूजर द्वारा दिए गए कार्यो को कमांडो को  प्राप्त करना
  • यूजर द्वारा दिए गए कमांडो को प्राप्त करना और उसके अनुरूप  कार्य करना 

मुख्य input devices of computer (इनपुट  युक्तियां) माउस, जॉय स्टिक ,स्कैनर ,लाइट पेन, वायर रिकॉग्निशन सिस्टम ,आर्टिफिशियल मार्क रीडर, मैग्नेटिक इन  कैरक्टर रिकॉग्निशन, वेब कैमरा वीडियो कैमरा आदि हैं

input devices of computer के बारे में विस्तार में-

 1- Keyboard  ( कीबोर्ड ) :

कीबोर्ड सबसे महत्वपूर्ण इनपुट डिवाइस( input devices of computer)है इससे कंप्यूटर में डाटा सूचनाएं इनपुट कराई जाती हैं यह टाइपराइटर के समान होता है इसमें कुंजियां को दबाकर कोई भी टेक्स्ट जैसे शब्द, संख्याएं और अनेक तरह के चिन्ह टाइप किए जा सकते हैं

keyboard image


Alphabet keys(अल्फाबेट कुंजियां )  – इन कुंजी से अंग्रेजी अल्फाबेट के अक्षर टाइप किए जाते हैं किसी अल्फाबेट कुंजी को अकेले दबाने पर छोटा अक्षर टाइप होता है तथा शिफ्ट के साथ दबाने पर बड़ा अक्षर टाइप होता है .

Number keys (नंबर कुंजियां) –  अल्फाबेट कुंजी से ऊपर की पंक्ति में नंबर कुंजियां होती हैं इन कुंजीयों से 0 से 9 तक के अंक टाइप किए जाते हैं नंबर टाइप करने के लिए कीबोर्ड में  कुंजीयों का एक अलग सेट होता है जिसे न्यूमैरिक पैड बोलते हैं या कहते हैं 

Escape keys (इसके कुंजी ) – इसके कुंजी  का उपयोग कुछ प्रोग्रामों से बाहर निकलने के लिए किया जाता है

Function keys(फंक्शन कुंजियां) –  F1 से  F12 तक की कुंजियां को फंक्शन कुंजियां कहते हैं इनका प्रयोग कंप्यूटर में परिभाषित विशिष्ट कार्यों के लिए किया जाता है इनका कार्य चल रहे प्रोग्रामों पर भी निर्भर करता है 

Cursor control keys (कसर कंट्रोल कुंजियां)  _– इन keys पर तीर के  चिन्ह होते हैं  इनसे सर  को डेस्कटॉप पर कहीं भी ले जाया जा सकता है किसी तीर की कुंजी को दबाने पर करसर उस पर छपे चिन्ह की दिशा में एक स्थान आगे चला जाता है 

Numeric key- pad (न्यूमैरिक कीपैड ) – की बोर्ड के दाएं भाग में एक विशेष कीपैड होता है जिससे केवल डाटा तैयार किया जाता है इस कीपैड का स्वरूप स्वरूप एक साधारण इलेक्ट्रॉनिक केलकुलेटर की तरह होता है हम जो कंप्यूटर में  डाटा भरते हैं उसमें लगभग 90% न्यूमैरिक होता है एक हाथ से टाइप कर सकते हैं एक्टिवेट करने के लिए  Num लॉक बटन होना चाहिए

Control keys (कंट्रोल कुंजी) –  कंट्रोल कुंजी का उपयोग कुछ विशिष्ट आदेश के लिए अन्य  कुंजीयों के साथ संयुक्त रूप से किया जाता है उदाहरण के लिए विंडोज में  कुंजी कंट्रोल के साथ सी control +C दबाने पर हुई चुनी हुई वस्तु या सामग्री क्लिपबोर्ड में कॉपी हो जाती है कंट्रोल कुंजीयों का उपयोग इसी प्रकार विभिन्न शॉर्टकट आदेश के लिए किया जाता है 

Alt key (अल्ट) –  इस कुंजी का उपयोग भी कंट्रोल कुंजी की तरह कुछ शॉर्टकट आदेश में किया जाता है

 Enter keys (इंटर कुंजी) – इसे रिटर्न key भी कहा जाता है यह user द्वारा गए आदेश को कंप्यूटर में भेजने का कार्य करती है एमएस doc में दबाने पर आदेश कंप्यूटर को भेज दिया जाता है विंडोज में यह किसी चुने हुए आदेश या आइकॉन को सही करने का कार्य करती है इसका उपयोग डॉक्यूमेंट पैराग्राफ में किया जाता है  

Shift keys (शिफ्ट कुंजियां)-   एन कुंजीओ का उपयोग टाइप करते समय अक्षरों को बढ़ा टाइप करने के लिए किया जाता है यदि किसी कुंजी पर 2  word  होते हैं तो शिफ्ट के साथ दबाने पर ऊपर का चेक होता है कीबोर्ड पर 2 शिफ्ट कुंजियां होती हैं बैकस्पेस कुंजी इसे दबाने पर cursor से बाई ओर का टेक्स्ट मिट जाता है एप्सलॉक कुंजी कुंजी को एक्टिवेट कर देने पर अपरकेस लोअर केस में तथा लोअर केस  अपर केस में टाइप होता है 

2- Pointing Devices (प्वाइंटिंग युक्तियां ) :

प्वाइंटिंग डिवाइस एक प्रकार की input devices of computer ,प्वाइंटिंग डिवाइस का उपयोग मॉनिटर की स्क्रीन पर  प्वाइंटर को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिए किया जाता है जैसे कुछ मुख्य रूप से प्रयोग में आने वाली पॉइंट डिवाइसेज हैं माउस, ट्रैकबॉल ,जॉय स्टिक ,लाइट पेन, टचस्क्रीन आदि

माउस –  माउस एक प्रकार की input devices of computer (प्वाइंटिंग डिवाइस)  है इसका प्रयोगकरसर या प्वाइंटर को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिए करते हैं इसके अतिरिक्त माउसका प्रयोग कंप्यूटर में ग्राफिक्स की सहायता से कंप्यूटर को निर्देश देने के लिए करते हैं माउस का आविष्कार 1963 में स्टैंडफॉर रिसर्च सेंटर में  डग्लस एंगेलबर्ट ने किया था इसमें सामान्यतः दो या तीन बटन होते हैं एक बटन को right  बटन और दूसरी बटन को left  हैं दोनों के बीच में एक  wheel होता है जिसका प्रयोग किसी फाइल में नीचे के पेज मे cursor को ले जाने के लिए करते हैं  माउस सामान्य तीन प्रकार के होते हैं-

mouse image


  • वायरलेस माउस 
  • मैकेनिकल माउस 
  • ऑप्टिकल माउस

Trackball (ट्रैकबॉल ) – ट्रैकबॉल पॉइंट (input devices of computer) डिवाइस है जिसे माउस की तरह प्रयोग किया जाता है इसमें एक बॉल ऊपरी सतह पर होती है इसका प्रयोग कर cursor को कंट्रोल करने के लिए किया जाता है इसका प्रयोग निम्नलिखित कार्यों में होता है  CADवर्क स्टेशन में ,सीएएम वर्क स्टेशन में कंप्यूटरीकृत वर्क स्टेशनों जैसे कि एक ट्रैफिक कंट्रोल रुम कंट्रोल रूम में, जहाज  में|

Joystick(जॉय स्टिक ) – जॉय स्टिक एक प्रकार की input devices of computer (प्वाइंटिंग  डिवाइस) होती है जो सभी दिशाओं में move करती है औरcursor  मूवमेंट को कंट्रोल करती है  जॉय स्टिक का प्रयोग फ्लाइट सिम्युलेटर ,कंप्यूटर गेमिंग सिस्टम में करते हैं इसमें एक हैंडल लगा होता है जिसकी सहायता से   मूवमेंट को कंट्रोल किया जाता है

Light pen( लाइट पेन प्रकाशीय कलम) –  प्रकाशीय कलम या लाइट पेन एक हाथ से चलाने वाली electro-optical पॉइंट डिवाइस है इसका प्रयोग ड्राइंग बनाने के लिए ,ग्राफिक्स बनाने के लिए  करते हैं पेन में छोटे ट्यूब के अंदर एक फोटो सेट होता है यह पेन स्क्रीन के पास जाकर प्रकाश को चेंज करता है तथा उसके बाद पल्स उत्पन्न करता है इसका प्रयोग मुख्य रूप से पर्सनल डिटेल असिस्टेंट में करते हैं

Touch screen (टच स्क्रीन) –  टचस्क्रीन ए प्रकार की इनपुट युक्ति है जो उपयोगकर्ता से   इनपुट लेता है जब उपयोगकर्ता अपनी उंगलियों को कंप्यूटर स्क्रीन पर रखता है टच स्क्रीन का प्रयोग   एयरलाइन आरक्षण में बैंक में सुपर मार्केट में मोबाइल में  कार्य में किया जाता है

touch screen image


  

3 -Bar code reader(बारकोड रीडर) :

 यह एक इनपुट डिवाइस (input devices of computer)होती है जिसका प्रयोग किसी उत्पाद पर छपे हुए बारकोड को पढ़ने के लिए किया जाता है बारकोड रीडर से प्रकाश की किरण निकलती है फिर उस किरण को बारकोड इमेज पर रखते हैं बारकोड रीडर में एक लाइट सेंसेटिव डिटेक्टर होता है जो बारकोड इमेज को दोनों तरफ से पहचानता है एक बार यह कोर पहचानने के लिए इसे शाम की कोर्ट में परिवर्तित करता है बारकोड रीडर का ज्यादा प्रयोग सुपर मार्केट में किया जाता है जहां पर बारकोड रीडर के द्वारा आसानी से किसी उत्पाद का मूल्य पहचाना जाता है 

bar code reader


4-Opticle mark reader(ऑप्टिकल मार्क रीडर) :  

ऑप्टिकल मार्क रीडर एक प्रकार की input devices of computer  है  , का प्रयोग किसी कागज पर बनाए गए चिन्हों को पहचानने के लिए किया जाता है यह कागज पर प्रकाश की किरण छोड़ता है और कागज और प्रकाश की किरण जिस पर पड़ती है उस   को ओएमआर रीड करके कंप्यूटर को इनपुट देता है ओएमआर की सहायता से किसी वस्तुनिष्ठ प्रकार की प्रयोगात्मक परीक्षा की उत्तर पुस्तिका जांच की जाती है इसकी सहायता से हजारों प्रश्नों का उत्तर बहुत ही कम समय में  चेक किया जा सकता है

5-Magnetic ink character reader(मैग्नेटिक इंक कैरक्टर रीडर) : 

एमआईसीआर सूचनाओं के आकार का परीक्षण मैट्रिक्स के रूप में करता है उसके बाद उसे रीड करता है और रीड करने के बाद सूचनाओं को कंप्यूटर में भेजता है सूचनाओं में  आयरन कर होते हैं जिन्हें मैग्नेटाइट किया जाता है इस प्रकार की iस्याही को   चुंबकीय  स्याही   कहते हैं इसका प्रयोग बैंकों में  में  इनकोडिंग संख्याओं को पहचानने और प्रोसेस  करने के लिए किया जाता है

6-Smart card reader (स्मार्ट कार्ड रीडर) :

 स्मार्ट कार्ड रीडर एक युक्ति( input devices of computer) है जिसका प्रयोग किसी स्मार्ट कार्ड के माइक्रोप्रोसेसर को विकसित करने के लिए किया जाता है स्मार्ट कार्ड दो प्रकार के होते हैं मेमोरी कार्ड माइक्रोप्रोसेसर कार्ड ,मेमोरी कार्ड में नॉन वोलेटाइल मेमोरी स्टोरेज कंपोनेंट होता है जो डाटा को सपोर्ट करता है माइक्रो प्रोसेसर कार्ड में वोलेटाइल मेमोरी माइक्रोप्रोसेसर कंपोनेंट दोनों होते हैं कार्ड सामान्यतया प्लास्टिक से बना होता है स्मार्ट कार्ड का प्रयोग बड़ी कंपनियों और संगठनों में सुरक्षा के उद्देश्य से किया जाता है 

7-Biometric sensor (बायोमैट्रिक सेंसर) :  

बायोमेट्रिक  सेंसर एक प्रकार की input devices of computer है जिसका प्रयोग किसी व्यक्ति की उंगलियों के निशान को पहचानने के लिए करते हैं बायोमेट्रिक सेंसर का मुख्य उद्देश्य   हैं इसका प्रयोग किसी संगठन में कर्मचारी है संस्थान में विद्यार्थियों की उपस्थिति दर्ज करने के लिए किया जाता है

biometric


8-Microphone (माइक्रोफोन ) : 

माइक्रोफोन एक प्रकार का इनपुट डिवाइस( input devices ) है जिसका प्रयोग कंप्यूटर को साउंड के रूप में देने के लिए किया जाता है इनपुट माइक्रोफोन आवाज को प्राप्त करता है तथा उसे कंप्यूटर के फॉर्मेट में परिवर्तित करता है जिसे डिजिटाइज्ड साउंड या डिजिटल ऑडियो भी कहते हैं माइक्रो फोन में आवाज को डिजिटल रूप में परिवर्तित करने के लिए एक सहायक हार्डवेयर की आवश्यकता होती है इस सहायक हार्डवेयर को  साउंड कार्ड कहते हैं  आजकल माइक्रोफोन का प्रयोग स्पीच रिकॉग्निशन सॉफ्टवेयर के साथ भी किया जाता है अर्थात इसकी सहायता से कंप्यूटर में टाइप करने की जरूरत नहीं पड़ती बल्कि जो बोला जाता है वह टाइप हो जाता है

9-Web camera ( वेब कैम वेब कैमरा ) : 

 वेबकैम एक प्रकार की वीडियो कैपचरिंग डिवाइस( input devices of computer) है जिसे वीडियो डिजिटल के साथ जोड़ा जाता है और ऑनलाइन चैटिंग किया जाता है

10-Scanner (स्केनर) : 

स्केनर(input devices of computer) का प्रयोग पेपर पर लिखे हुए डाटा या  चित्र को डिजिटल रूप में परिवर्तित करने के लिए करते हैं यह एक ऑप्टिकल इनपुट डिवाइस है जो इमेज को इलेक्ट्रॉनिक रूप में बदलने के लिए प्रकाश को इनपुट की तरह प्रयोग करता है और फिर चित्र को डिजिटल रूप में बदलने के बाद कंप्यूटर में भेजता है स्केनर  निम्न प्रकार के होते हैं –

printer image

  • हैंड हेल्ड स्कैनर 
  • फ्लैटबीएड स्कैनर
  • ड्रम स्कैनर